Kisan Bill MSP : क्यों है MSP विवाद का कारण, इस अधिनियम के तहत किसानो को मिलेगी मंडी रहित विक्रय प्रक्रिया

Kisan Bill MSP : Central Government के द्वारा किसानो को बीच के बिचोलियो से बचने के लिए Government ने यह किसान Bill की पेशकश की है। इस के तहत किसान भाईयों को अपनी फसल का अच्छा दाम मिलेगा, क्योकि किसानो को राहत की राशि सीधे kisan bill के द्वारा account में दी जाएगी। Kisan Bill वास्तव में यह एक Bill न हो कर के 3 बिलो का समूह है। जिसमे से Government के द्वारा 2 बिलो को वर्तमान में पास कर दिया गया है। Kisan Bill अभी के समय में विवाद का मुद्दा बना हुआ है।

Kisan Bill MSP
Kisan Bill MSP

क्या है किसान Bill ?

Central Government के द्वारा अभी के समय में किसानो के लिए Government ने तीन बिल लाये है। जिसमे से पहला farmer produce trade and commerce bill एवं दूसरा farmer agreement and price insurance & form service bill  तथा तीसरा बिल अभी पास नहीं किया गया है। Government के द्वारा पहले दो बिलो में कहना कि देश में बिचोलियो को हटाना है। Government का कहना है, कि Farmer अपनी उपज का पूर्ण उद्योगपति को दे सके। इस प्रकार की व्यवस्था Government ने इस Bill के द्वारा की है। जिससे किसानो को बिचोलिये से बचाने का काम किया जाएगा, किन्तु Government ने यह नहीं बताया है, कि इन बिचोलियो के लिए Government क्या करेगी।

ऐसी ही जानकारियो के लिए हमारे Whats App ग्रुप से जुड़ेWhats App

क्या है Kisan Bill MSP ?

MSP अर्थात minimum support price इस के द्वारा Government सभी किसानो को एक सामान price पर उनकी उपज लेने का वादा करती है। Government का कहना है कि हम ने इस MSP के बारे में कोइ बात नहीं, कि किन्तु सभी को लाभ मिले इस के लिए Government ने राशि देने का काम किया है, किन्तु Government ने अपने बिलो में यह बात स्पस्ट नहीं कि है, कि गवर्नमेंट MSP को अवसर रखेगी। Government अपने दूसरे Bill में कहती है, कि वह मंडियों को ख़त्म करेगी। जिस के द्वारा किसान भाईयो को लाभ मिलेगा, लेकिन किसान भाईयो की फसल को उद्योगपति सही दाम पर खरीदे। उसकी गारंटी भी Government लने के लिए तैयार नहीं है। Government न MSP न मंडियों ओर एक अच्छा स्टेण्ड देने में कायम रही है।

Kisan Bill MSP लाभ का दृष्टिकोण

Central Government के द्वारा लाये गए। इस बिल में Government कृषि को भी आधुनिक करने की बात कर रही है एवं इस के द्वारा सभी किसानो को बिचोलियो से बचाने का काम कर रही है। किसानो को साधन भी दिए जाने का काम भी गवर्नमेंट करेगी। इस बिल के द्वारा किसान अपनी फसल को सीधे government को बेच सकते है। जिस से उन्हें और अधिक आय मिलती है। किसानो की आय को वर्ष 2022 तक दुगनी करने में भी इस का योगदान रहा है।

Kisan Bill MSP हानिकारक पहलु

Government अपने बिलो में यह नहीं लिखती है कि वह किसानो को MSP का लाभ देगी एवं किसान भाईयो की फसल को उद्यमी सही दाम पर नहीं खरीदते है। तो Government उनकी फसल खरीदेगी। गवर्नमेंट ने बीच में काम कर रहे, बिचोलियो के बारे में अपनी नीतिया नहीं बताई है। तथा हम बात हरियाणा एवं पंजाब राज्य की ही करे। तो वहा पर 28,000 से ज्यादा Registered बिचोलिये है। Government मंडियों के प्रति अपना स्टेण्ड भी नहीं साफ कर रही है। Government आधुनिकरण के कारण मंडियों को बंद करने का काम कर रही है। किसान को अपनी आय में वृद्धि मिले न मिले किन्तु सपष्ट नीतियों का लाभ अवश्य मिले। Government का कहना है कि यह Bill हिस्टोरिक है। लेकिन Government ने यह बिल को राज्य सभा में वॉइस वोटिंग के द्वारा ही क्यों पास किया, जबकि उनके पास में दूसरे अच्छे विकल्प भी उपलब्ध थे।

तो दोस्तों आपको हमारी यह पोस्ट कैसी लगी, हमें कमेंट में जरूर बताएं।

ऐसी ही जानकारियो के लिए हमारे Telegram ग्रुप से जुड़े ।
telegram-button.

Also Read: –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *