Mera Pani Meri Virasat yojana : मेरा पानी मेरी विरासत yojana क्या है? इस योजना में कैसे करे आवेदन ! जानिए यहां

आज हम आपके लिए Mera Pani Meri Virasat yojana की जानकारी लेकर आए हैं। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर जी ने मे Mera Pani Meri Virasat पोर्टल लॉन्च किया है।  इस yojana का मुख्य उद्देश्य यह है कि डार्क जोन में शामिल क्षेत्रों में धान की खेती में पानी छोड़ने के लिए जोर दिया जाएगा। जैसा कि आप सभी जानते हैं, कि हरियाणा बहुत बड़ा राज्य है। यहां पर अधिकतर लोग कृषि का कार्य करते है। यहां पर बड़े पैमाने पर धान की खेती की जाती है। इसलिए धान की खेती के लिए पानी अनिवार्य है।

Mera Pani Meri Virasat yojana

Mera Pani Meri Virasat yojana

लोग धान की खेती करने के लिए हजारों मिलीमीटर पानी, अपने नलकूपों से खेतों में देते हैं। धान की खेती के लिए पानी अनिवार्य है। जिससे हर साल भूजल की गहराई नीचे होती जा रही है। इसकी कमी को देखते हुए हरियाणा सरकार ने एक बड़ा कदम उठाया है। इसलिए मेरा पानी मेरी विरासत yojana का गठन किया गया है। ताकि भू जल की गहराई गिरने से बचाई जा सके।

Mera Pani Meri Virasat yojana के बारे में

Government ने पहले चरण में 19 ब्लॉक शामिल किए गए हैं, जिनमें भू-जल की गहराई 40 मीटर से ज्यादा है। इनमें से भी आठ ब्लॉक में धान की रोपाई ज्यादा है। जिनमें कैथल के सीवन और गुहला, सिरसा, फतेहाबाद में रतिया और कुरुक्षेत्र में शाहाबाद, इस्माइलाबाद, पिपली और बबैन शामिल हैं। इस yojana के अंतर्गत खान धान की खेती को छोड़ेगा, उसको Government की तरफ से  7 हजार प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। इसकी जगह पर मक्का अरहर मूंग कपास सब्जी की खेती कर सकते हैं। पिछले 12 वर्षों से लगातार में भू-जल स्तर में पानी की गिरावट दोगुनी हुई हैं। ऐसा ही चलता रहा तो पानी की कमी किसानों के सामने आ जाएगी।

ऐसी ही जानकारियो के लिए हमारे Whats App ग्रुप से जुड़ेWhats App

हरियाणा Mera Pani Meri Virasat yojana के लाभ

  • Government की तरफ से ₹7 हजार प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।
  • CM मनोहर लाल खट्टर बोले-मक्का और दालों की खरीद की गारंटी दी जाएगी।
  • ड्रिप सिंचाई करने वालों को मिलेगी 85 प्रतिशत की subsidy
  • हली किस्त पंजीकरण के सत्यापन पर 2 हजार रुपए की राशि तथा 5 हजार रुपए राशि की दूसरी किस्त फसल पकने पर दी जाएगी।
  • मक्का, बाजरा व कपास का फसल बीमा भी सरकारी खर्च पर ही किया जाएगा।
  • हरियाणा में अधिक पानी की मांग वाली फसलो के क्षेत्र को कम करना।
  • स्थायी खेती के लिए वैकल्पिक फसलो को बढावा देना तथा नवीनतम तकनीको की प्रेरणा देना।
  • संसाधनों के संरक्षण को बढावा देना।
  • भू-जल स्तर को बनाए रखना।
  • धान-गेहूं चक्र के कुप्रभाव से मृदा स्वास्थ्य को बचाना तथा सुक्ष्म तत्वों का सन्तुलन मिट्टी में बनाए रखना।
  • धान-गेहूं चक्र की खेती से हटाकर किसान को अधिक लाभ देने वाली फसलो का विकल्प देने के लिए।

Mera Pani Meri Virasat yojana पोर्टल की पात्रता

  1. Registration करने वाला हरियाणा का स्थाई निवासी है।
  2. Registration करने वाला किसान होना चाहिए।
  3. धान की खेती की जगह और फसल तैयार करेंगे।
  4. हरियाणा state के किसी दूसरे ब्लाक में भी इच्छुक किसान धान की खेती छोड़ना चाहते हैं, तो वह भी इस yojana के अंतर्गत अनुदान के लिए आवेदन कर पाएंगे।

Mera Pani Meri Virasat yojana 2020 डॉक्यूमेंट

  1. आधार कार्ड
  2. पंजीकरण मोबाइल नंबर
  3. ईमेल आईडी
  4. खाते का विवरण
  5. पासपोर्ट साइज फोटो

हरियाणा Mera Pani Meri Virasat yojana 2020 रजिस्ट्रेशन फॉर्म

  • यदि आप भी इस yojana का लाभ लेना चाहते हैं, तो हरियाणा उद्यम मेमोरेंडम पोर्टल पर जाकर आप इसका फॉर्म भर सकते हैं।http://117.240.196.237/FarmerRegistration.aspx
  • इस page पर आपको अपना आधार नंबर भरना होगा और फिर next के बटन पर click करना होगा। बटन पर click करने के बाद आपको form डिटेल्स भरनी होगी, फिर टोटल लैंड होल्डिंग और क्रॉप डिटेल्स भरनी होगी।
  • Application form की जानकारी भरने के बाद submit बटन पर click करना होगा। इस प्रकार आप मेरा पानी मेरी विरासत yojana में ऑनलाइन Registration कर सकते हैं।

तो दोस्तों आपको हमारी यह पोस्ट कैसी लगी, हमें कमेंट में जरूर बताएं।

ऐसी ही जानकारियो के लिए हमारे Telegram ग्रुप से जुड़े ।
telegram-button.

Also Read: –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *